Mobile Operating System क्या है ? Windows Operating system क्या है?

आज के समय में हर किसी के पास मोबाइल फोन है या फिर आप मोबाइल फोन लेने की सोचते है। तो आप को पता है की आपका फोन या कोई भी मोबाइल फोन कैसे चलता है। जी हां मोबाइल फोन को चलने के लिए एक Operating system की जरुरत पड़ती है जैसे लैपटॉप या कंप्यूटर में Windows Operating system  होता है।

ठीक उसी प्रकार से मोबाइल में भी एक Operating system  के तहत काम करता है। जैसे एंड्राइड का नाम तो आप सब ने सुना ही होगा। यह ज्यादा बिकने और इस्तेमाल किया जाने वाला Mobile Operating system है। अगर किसी भी मोबाइल में ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल न किया जाये तो मोबाइल फोन एक खाली डिब्बे के सामान होगा।

परन्तु अगर उसी मोबाइल फोन में एक अच्छा सा ऑपरेटिंग सिस्टम डाल दिया जाये तो वह काम करने लगता है जिसमे हम सॉफ्टवेयर के द्वारा विभिन्न प्रकार के टास्क को करते है। अब अगर आपके दिमाग में यह ख्याल आ रहा है कि आखरी ये Operation System होता क्या है और यह हमारे फोन के लिए क्यों जरूरी होता है. किस किस तरह के Mobile Operating system होते हैं. तो अगर आप यह सब कुछ जानना चाहते हैं तो आप एकदम सही जगह पर आए हैं ,क्योंकि इस ब्लॉग के माध्यम से हम आपको Mobile Operating system  से जुड़ी सभी जानकारी देंगे हम विश्वास दिलाते है कि ब्लॉग के अंत तक आपको Mobile Operating system  पूरी तरीके से समझ आ जाएगा।

Mobile Operating System क्या है?

कोई भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जिसे हम खुद से कण्ट्रोल या फिर ऑपरेट करते है। उसे चलाने के लिए उसमे एक सॉफ्टवेयर डालते है जिसे हम ऑपरेटिंग सिस्टम कहते है। जैसे एप्पल मोबाइल  फोन में आई ओ एस (IOS ) ऑपरेटिंग सिस्टम होता है।

विंडोज के मोबाइल फोन में माइक्रोसॉफ्ट का  विंडोस ओपेरटिंग सिस्टम होता है , बिलकुल ऐसे ही एंड्राइड आधारित मोबाइल फोन में एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम होता है..।

अगर मोबाइल फोन में ऑपरेटिंग सिस्टम न डाला जाये तो उसका स्तेमाल हम नहीं कर पाएंगे क्युकी किसी भी मोबाइल को सुचारु रूप से काम करने के लिए ऑपरेटिंग  आवश्यकता होती है। हम किसी भी मोबाइल के अंदर पहले से इंसटाल ऑपरेटिंग सिस्टम के ऊपर कोई  ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं इनस्टॉल कर सकते।

परन्तु किसी भी रूट (ROOT) मोबाइल डिवाइस के अंदर बहुत ही आसानी के साथ अपन मन पसंदीदा ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल कर सकते है। लेकिन ऐसा करने में आपके मोबाइल फोन को काफी जोखिम उठाना पड सकता है ये भी हो सकता है की आपका मोबाइल फोन पूरी तरह से ख़राब हो जाये 

अतः हम किसी भी रुट मोबाइल में अपनी तरफ से नया ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल करने का सुझाव नहीं देते है।  

Mobile Operating system तथा desktop Operating system में अंतर 

कोई भी Mobile Operating system केवल और केवल मोबाइल फोन के लिए ही डिज़ाइन किया जाता है। उसी प्रकार किसी भी डेस्कटॉप के ऑपरेटिंग सिस्टम को केवल डेस्कटॉप , लैपटॉप या कुछ टेबलेट में ही स्तेमाल किया जा सकता है। 

इसके बावजूद मोबाइल फोन का ऑपरेटिंग सिस्टम और डेस्कटॉप का ऑपरेटिंग सिस्टम लगभग एक जैसे ही कार्य करते है। आपके पास जो भी मोबाइल है उसका  ऑपरेटिंग सिस्टम तथा डेस्कटॉप एक जैसा ही कार्य करते है उसके फीचर्स भी लगभग एक जैसे होते है

परंतु Desktop Operating system में मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम की अपेक्षा ज्यादा क्षमता देखने को मिलती है वही मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम में कुछ विशेषताएं होती है जो डेस्कटॉप ऑपरेटिंग सिस्टम नहीं होती है। 

Mobile operating system features

आज हम आपको मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में उन विशेस्ताओ के बारे में बतायेगे जो आपको किसी भी डेस्कटॉप या लैपटॉप ऑपरेटिंग सिस्टम में नहीं मिलेगा और यही अन्तर हमें मोबाइल ऑपेरैंग सिस्टम और डेस्कटॉप ऑपरेटिंग सिस्टम में देखने को मिलती है। निचे लिस्ट दी गई है। 

  • Inbuilt Modem
  • SIM Management
  • Touchscreen
  • Cellular
  • Bluetooth
  • Wi-Fi
  • GPS – Global Positioning System
  • NFC – Near Field Communication
  • Infrared Blaster
  • Camera
  • Voice Recorder
  • Speech Recognition
  • . Face Recognition
  • Fingerprint Sensor

Types of mobile operating system

जैसा की आप जानते होगे कि Mobile Operating system कई प्रकार के होते है। जिनमे कुछ अलग अलग फीचर होते है। लेकिन इन सभी ऑपरेटिंग सिस्टम में एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम सबसे ज्यादा पॉपुलर तथा सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है।  तो आईये आज हम आपको सभी प्रकार के Mobile Operating system के बारे में जानकारी देगे।

Android Operating System 

आज के समय के ज्यादा तर मोबाइल फोन में एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम होता है। एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम को गूगल ने 2008 में लांच किया था।  आज के समय में एंड्राइड ऑपरेटिंग सबसे ज्यादा पसंद  किया जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है क्योंकि एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए लगभग सभी एप्प्स  बहुत  ही आसानी से मिल जाता है।यह काफी लोकप्रिय ऑपरेटिंग सिस्टम भी है।आज कल इस ऑपरेटिंग सिस्टम को काफी पसंद किया जा रहा है और इस ओ एस वाले स्मार्ट फोन काफी बिक भी रहे है।

IOS operating system

IOS एक ऐसा मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसे एप्पल कम्पनी ने खुद बनाया है।  यह एप्पल के लगभग सभी प्रोडक्ट्स जैसे एप्पल के मोबाइल फोन , लैपटॉप तथा टेबलेट, आईपैड में प्रयोग होता है।  IOS  ऑपरेटिंग सिस्टम में डाटा को सबसे ज्यादा सुरक्षित माना  जाता है।  यही वजह है कि बड़े बड़े बिसिनेस मैंन लोग एप्पल के प्रोडक्ट को ही इस्तेमाल करते है।क्योंकि इसके हैक होने की उम्मीद बिल्कुल भी नही है।यह ऑपरेटिंग सिस्टम इसी खूबी के कारण बहुत ही प्रचलित है।iOS यूजर इंटरफेस किसी अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम की तुलना में सबसे अच्छा और आसानी से एवं तेजी से अपडेट होता है.IOS से डाउनलोड की गई ऐप्स दूसरी एप्प की तुलना में सबसे बेहतर है.
IOS उपभोक्ता को अपने आईफोन और आईपोड का डाटा डेस्कटॉप कम्प्यूटर के साथ स्क्रिोनाइज करने में सहायता देता है। यह सुविधा एंड्राइड में उपलब्ध नहीं है.

Windows operating system

मुख्यरूप से विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम डेस्कटॉप ऑपरेटिंग सिस्टम है परन्तु माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी द्वारा बनाये गए मोबाइल  फोन में यह ऑपरेटिंग सिस्टम देखने को मिल जाता है। माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी  मालिक बिल गेट्स है। 

Chrome OS

chrome OS को गूगल ने  बनाया है लेकिन यह केवलवेब एप्लीकेशन के रूप में ही कार्य करता है। Chrome OS मुख्यरूप से chrome ब्राउज़र को यूज़र इंटरफ़ेस प्रदान करने का कार्य करता है। जिसे आप  गूगल के क्रोमबुक में देख सकते है।

Web operating system

Web os  एक ऐसा ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसका उपयोग आजकल स्मार्ट टेलीविज़न में किया जाता है। वेब ऑपरेटिंग सिस्टम को पाल्म  कंपनी ने विक्सित किया था जिसे बाद में HP कम्पनी ने खरीद लिया।  इसके बाद वेब ऑपरेटिंग सिस्टम को LG कम्पनी ने खरीद लिया , जिसका उपयोग यह अपने स्मार्ट टेलीविज़न में करती है।आज कल बाजारों में इस तरह के टेलीविजन काफी बिक रहे है।

Watch OS 

Watch ऑपरेटिंग सिस्टम को एप्पल कम्पनी ने बनाया है एप्पल कम्पनी watch  ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग अपने द्वारा बनाये गए स्मार्ट वाच में करता है।इस तरह के वॉचेज में आपको बहुत सारी खूबियां देखने को मिल जाती है।परंतु इस तरह के वॉचेज बाजारों में काफी अधिक मूल्य पर मिलते है। 

BlackBerry OS

ब्लैकबेरी ऑपरेटिंग सिस्टम का  उपयोग केवल और केवल ब्लैकबेरी द्वारा बनाये गए मोबाइल फोन में होता है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम को रिसर्च इन मोशन नमक कम्पनी द्वारा डिस्ट्रीब्यूट किया जाता है। ब्लैकबेरी फोन डाटा को लगभग 50 प्रतिशत कॉम्प्रेस कर सकता है जिससे ई-मेल भेजने या डाटा Sharing के दौरान बैंडविड्थ कम खर्च होती है, इसके साथ-साथ यह एन्क्रिप्टेड फॉर्म में डाटा को ई-मेल करने की सुविधा देता है.

ALI OS

Ali ऑपरेटिंग सिस्टम का उपयोग केवल और केवल चीन की कम्पनी अलीबाबा करता है।  ali ऑपरेटिंग सिस्टम को अलीबाबा कम्पनी ने ही बनाया है।जो की काफी लोकप्रिय और बड़ी कंपनियों में से एक है। 

Kai OS

Kai  ऑपरेटिंग सिस्टम एक प्रकार का मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसे kai कम्पनी ने विकसित किया है। kai ऑपरेटिंग सिस्टम को स्मार्टफ़ोन के जन्मदाता सेलकॉन के लिए विकसित किया गया था। 

Fuchsia

इसे भी गूगल कंपनी ने विकसित किया है और यह एक सरप्राइज प्रोडक्ट के तौर पर विकसित किए जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम है। इस ऑपरेटिंग सिस्टम को इसलिए सरप्राइस प्रोडक्ट ऑपरेटिंग सिस्टम कहा जाता है, क्योंकि इसको बिना अधिकारिक लांच के ही लांच कर दिया गया था और जिसके बारे में एक पोस्ट के जरिए लोगों को पता चल पाया था, मगर यह अभी वर्तमान समय में शुरुआती दौर में है।

Conclusion

आज हमने आपको मोबाइल फोन डिवाइस में प्रयोग होने वाले ऑपरेटिंग सिस्टम के बारे में बताया तथा ये भी बताया की ये कैसे और कहा प्रयोग होते है।जिससे आपको इसकी सारी जानकारी मिल सके। हम उम्मीद करते हैं, कि आप को ऊपर बताए गए आर्टिकल के माध्यम से ऑपरेटिंग सिस्टम से जुड़ी समस्त जानकारी मिल गई होगी अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा है आप इसे अपने दोस्तों में साझा करना ना भूले।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here